बॉलीवुड

सुचित्रा सेन की 90वीं जयंती, जानिए उनके जीवन के खास पहलुओं के बारे में

Suchitra sen

अपने अदाओं से सिनेमा जगत में एक अलग पहचान बनाने वाली सदाबहार अभिनेत्री सुचित्रा सेन (Suchitra sen) की आज 90वीं जयंती है। 

सुचित्रा सेन (Suchitra sen) का जन्म 6 अप्रैल 1931 को वर्तमान बांग्लादेश के पबना जिले में हुआ था और उनका वास्तविक नाम रोमा दासगुप्ता था। उनकी प्रारंभिक पढ़ाई अपने गाँव में ही हुई और 1947 में बंगाल के मशहूर बिजनेसमैन आदिनाथ सेन के बेटे दिबानाथ सेन से उनकी शादी हो गई।

सुचित्रा ने अपनी शादी के पाँच वर्षों के बाद, एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा। उनकी पहली फिल्म शेष कोथाय थी, जो 1952 में बांग्ला भाषा में बनी थी। लेकिन, यह फिल्म कभी रिलीज नहीं हो पाई। 

लेकिन, इसी साल उनकी सारे चतुर नाम से एक बांग्ला फिल्म रिलीज हुई, जिसे आधिकारिक तौर पर उनकी पहली फिल्म कही जाती है। इस फिल्म में उनके अपोजिट उत्तम कुमार थे और लोगों को यह फिल्म खूब पसंद आई थी। 

Suchitra sen

इसके बाद, सुचित्रा ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और अपने करियर में एक से बढ़ कर एक सफल फिल्में दीं। खास बात यह है कि सुचित्रा अपने 61 फिल्मों में से 30 में उत्तम कुमार के साथ नजर आईं।

सुचित्रा ने अपने जीवन में देवदास, आंधी, बॉम्बे का बाबू जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया। सुचित्रा को अपने उसूलों पर अडिग रहने वाली महिला माना जाता था और एक बार वह जो ठान लेती थे, वह उसे पा कर रहती थी। 

सिनेमा के क्षेत्र में सुचित्रा के उल्लेखनीय योगदानों के लिए उन्हें 2005 में दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा था। लेकिन, उन्होंने इस प्रस्ताव को यह कह कर ठुकरा दिया कि उन्हें इसके लिए कोलकाता से दिल्ली जाना पड़ता। 

इसके अलावा, फिल्मों से संन्यास लेने के बाद, उन्होंने वादा किया था कि वह इसके बाद कभी लोगों के बीच नहीं दिखेंगी और उन्होंने मरते दम तक अपने इस वादे को पूरा किया। 17 जनवरी 2017 को, 83 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली।

यह भी पढ़ें – 50 के हुए संजय सूरी, जानिए उनके संघर्ष की कहानी

Share

Comment here