बॉलीवुड

सुपुर्द-ए-खाक हुए ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार, नहीं था कोई संतान तो शाहरुख खान को मानते थे अपना बेटा

Dilip Kumar

हिन्दी सिनेमा के महान अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का आज 98 साल की उम्र में निधन हो गया। उम्र संबंधित शिकायतों के बाद वह पिछले कई दिनों से मुंबई स्थित हिंदूजा अस्पताल में भर्ती थे।

बीते दिन तक उनकी हालत स्थिर बनी हुई थी, लेकिन बुधवार की सुबह 7:30 बजे उनकी मौत हो गई। उनकी मौत की खबर सुनते ही, पूरे सिनेमा जगत में मातम छा गया और अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र, शाहरुख खान, ऋतिक रोशन समेत कई हस्तियों के साथ-साथ देश के करोड़ों लोगों ने उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की।

बता दें कि आज शाम में पूरे राजकीय सम्मान के साथ ट्रेजडी किंग को अंतिम विदाई दी गई। उन्हें जुहू के एक कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया। बताया जा रहा है कि उनके अंतिम संस्कार के दौरान कोरोना वायरस संबंधित नियमों के कारण सिर्फ 20 लोग शामिल हो पाए।

बता दें कि दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का वास्तिवक नाम मोहम्मद युसूफ खान था। उनका जन्म पाकिस्तान स्थित पेशावर में 11 दिसंबर 1922 को हुआ और विभाजन के बाद उनके पिता भारत में बस गए।

Dilip Kumar

उनका बचपन काफी गरीबी में गुजरा और उनके पिता फल बेचकर अपना घर चलाते थे। लेकिन, इससे भी घर की जरूरत पूरी नहीं होने लगी, तो दिलीप कुमार से कैंटीन में काम करना शुरू कर दिया। यह उनकी मुलाकात देविका रानी नाम की एक अभिनेत्री से हुई और उन्होंने दिलीप कुमार को फिल्मों में काम करने के लिए प्रेरित किया।

कहा जाता है कि दिलीप कुमार को अपना नाम बदलने के लिए भी देविका ने ही कहा। फिल्मों की दुनिया में कदम रखते ही दिलीप कुमार अपनी एक्टिंग स्किल से लोगों की दिलों पर छा गए। 

दिलीप कुमार (Dilip Kumar) की पहली फिल्म ‘ज्वार भाटा’ थी, जो 1944 में आई थी। लोगों को यह फिल्म काफी पसंद आई और इसके बाद उन्होंने जुगनू, देवदास, दीदार, मुगले-ए-आजम जैसे कई ऐतिहासिक फिल्में दी। वह आखिरी बार 1998 में किला फिल्म में नजर आए। 

बता दें कि दिलीप कुमार ने अपने जीवन में दो शादियां की। लेकिन, उनकी कोई औलाद नहीं थी। वह बॉलीवुड के किंग खान कहे जाने वाले शाहरुख खान को अपना मुंहबोला बेटा मानते थे।

कहा जाता है कि शाहरुख के पिता मोहम्मद खान का जन्म भी पेशावर के उसी गली में हुआ, जहाँ दिलीप कुमार का पैतृक घर है। इस वजह से दोनों के बीच काफी गहरा रिश्ता रहा।

उनकी मौत की खबर सुनने के बाद, शाहरुख खान काफी गमगीन थे और वह उनके अंतिम दर्शन के लिए पहुँचे।

यह भी पढ़ें – एथलीट पिंकी प्रमाणिक पर फिल्म बनाएंगे अशोक पंडित, पुरुष होने और बलात्कार करने का लगा था आरोप

Share

Comment here