स्टार फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने अपनी शानदार एक्टिंग स्किल और दरियादिली से लोगों के दिलों में एक खास जगह बनाई है. बता दें कि सोनू सूद कोरोना महामारी के दौरान हजारों लोगों के लिए एक मसीहा के तौर पर उभरे और उनकी हर संभव मदद की.

बता दें कि सोनू सूद आज अपना 48वां जन्मदिन मना रहे हैं. उनका जन्म 30 जुलाई 1973 को पंजाब के मोगा में हुआ था. आज उनके जन्म दिन के मौके पर कई फैंस उनके लिए केक लेकर पहुंचे थे. जिसके बाद सोनू सूद ने फैंस के साथ अपना जन्मदिन मनाया और फैंस को अपने हाथों से केक खिलाया. सोनू सूद लाखों दिलों की धड़कन हैं. कोरोना काल में लोगों की सबसे ज्यादा मदद करने वाले सोनू सूद आज लोगों के बीच मसीहा भी बन चुके हैं. चालिए आज जानते हैं एक्टर के पर्सनल से लेकर प्रोफेशनल जिंदगी के बारे में कुछ खास बातें.

बता दें कि उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग में अपना ग्रेजुएशन किया था. सोनू को बचपन से ही मॉडलिंग का शौक था. सोनू सूद ने अपने करियर में कई फिल्में की हैं. उन्होंने अपनी पहली फिल्म तमिल भाषा में की थी. इस फिल्म का नाम कलजघर था. तमिल के बाद उन्होंने बॉलीवुड इंडस्ट्री की ओर रुख किया था और आज वह एक सफल एक्टर हैं.

एक इंटरव्यू के दौरान सोनू ने बताया कि वो महज 5500 रुपए लेकर मुंबई पहुंचे थे जो उन्होंने खुद इकट्ठा किए थे. यहां आकर सोनू ने सबसे पहले 400 रुपए फिल्मसिटी पहुंचने में गंवा दिए. सोनू को लगता था कि अगर वो फिल्मसिटी में घूमते रहेंगे तो किसी ना किसी निर्देशक और प्रोड्यूसर की उन पर नजर पड़ेगी और उन्हें फिल्मों में काम मिल जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. 3 लोगों के साथ एक कमरा शेयर करते हुए सोनू गरीबी में गुजारा किया करते थे, उन्हें जब भी ऑडीशन का कॉल आता तो उनके साथ लाइन में 200 से ज्यादा लोग ऑडीशन देने के लिए खड़े होते थे जहां उन्हें सिर्फ रिजेक्शन झेलना पड़ता था.

पिछला लेखनहीं रहे टीवी एक्टर रसिक दवे
अगला लेखक्या सच में अलग हो गए हैं टाइगर और दिशा, जानिए यहाँ

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here